बिहार के डीजीपी श्री संजीव कुमार सिंघल ने जागरण फर्जीवाड़ा में रिपोर्ट मांगी

बिहार के डीजीपी श्री संजीव कुमार सिंघल ने जागरण फर्जीवाड़ा में रिपोर्ट मांगी

अधिवक्ता सह आरटीआई एक्टिविस्ट श्रीकृष्ण प्रसाद।अधिवक्ता। की कलम से
मुंगेर(बिहार, इंडिया), 12 जनवरी,2021। बिहार के पुलिस महानिदेशक ।पटना। के कार्यालय के पत्रांक- 797। लो0शि0नि0को0,दि0 22-09-2020 एवं अन्य पत्रों के आलोक में डी0जी0 पी0।पटना। को सरकारी पत्र लिखकर मुंगेर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नन्दजी प्रसाद ने सूचित किया है कि दैनिक जागरण के फर्जी मुंगेर संस्करण और सरकारी विज्ञापन फर्जीवाड़ा में  समर्पित ‘‘पर्यवेक्षण‘‘ एवं ‘‘प्रतिवेदन-02‘‘ में   प्राप्त दस्तावेजों के आधार पर कांड प्रथम दृष्टया सत्य प्रतीत होता है । 
 डी0जी0पी0 को अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी आगे लिखते हैं कि -‘‘ चूंकि यह जालसाजी एवं आर्थिक अपराध से संबंधित एक अतिमहत्वपूर्ण मामला है। अतएव पर्यवेक्षण के क्रम में अभियोजन पक्ष की ओर से प्राप्त सभी दस्तावेजों को संबंधित कार्यालयों से सत्यापन एवं कतिपय विन्दुओं के आलोक में गहन अनुसंधानोपरांत ही अभियुक्तिकरण के बिन्दु पर निर्णय लेना श्रेयस्कर प्रतीत होता है । कांड में अनुसंधानकत्र्ता को कई अनुदेशों के अनुपालन कर अग्रतर अनुसंधान करने एवं त्वरित गति से अनुसंधान पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया गया है । वर्तमान में कांड अनुसंधान अन्तर्गत लंबित है । ‘‘
 अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने उपर्युक्त सूचना अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी का कार्यालय।सदर। के ज्ञापांक -3090। सदर , दिनांक 26 अक्टूबर, 2020 के जरिए डी0जी0पी0,बिहार को दी है । 
 डी0जी0पी0 को आगे सूचित किया गया है कि यह मामला कोतवाली थाना कांड संख्या- 131। वर्ष 2020 से जुड़ा है । यह कांड  धारा 420ं 471।476।120।बी। भा0द0वि0 एवं 5।6।8 बी।11।12।13।14।15।16।19।22 प्रेस एण्ड रजिस्ट्रेशन  आॅफ बुक्स एक्ट,1867 से संबंधित है । यह कांड वादी श्रीकृष्ण प्रसाद, पे0 स्व0 श्रीकाशी प्रसाद, साकीन-मंगल बाजार, गुमटी नं0-03, थाना-कोतवाली। वासुदेवपुर। ,जिला-मुंगेर के कोर्ट परिवाद पत्र संख्या -83सी। 2020 के आधार पर प्राथमिक अभियुक्त ।1। महेन्द्र मोहन गुप्ता, संपादकीय निदेशक, ।2। संजय गुप्ता, प्रधान संपादक ,दैनिक जागरण, मेसर्स जागरण प्रकाशन लिमिटेड, जागरण बिल्डिंग,2, सर्वोदय नगर, कानपुर- 208005,।3। आनन्द त्रिपाठी,मुद्रक एवं प्रकाशक।बिहार।, दैनिक जागरण, ।4। प्रशांत मिश्र, संपादक, दैनिक जागरण।बिहार एवं बंगाल।, मेसर्स जागरण प्रकाशन लिमिटेड , दैनिक जागरण प्रेस, प्लाट नं0-डी0।4, इंडस्ट्रियल इस्टेट बरारी, भागलपुर- 812003, कंपनी के प्रबंधन, संपादकीय, विज्ञापन एवं सर्कुलेशन विभागों  से जुड़े जिम्मेबार कंपनी के पदाधिकारीगण एवं कर्मचारीगण के विरूद्ध छल से ‘‘प्रेस एण्ड रजिस्ट्रेशन आॅफ बुक्स एक्ट- 1867‘‘ की विभिन्न धाराओं के उल्लंघन करते हुए गलत पंजीयन संख्या अंकित करते हुए मुंगेर संस्करण समाचार-पत्र का मुद्रण एवं प्रकाशन करने तथा फर्जी कागजात प्रस्तुत कर समाचार-पत्र में प्रकाशित करने हेतु राज्य सरकार और केन्द्र सरकार से विज्ञापन प्राप्त कर करोड़ों रूपया विज्ञापन मद में प्राप्त कर लेने के आरोप में दर्ज किया गया है । 
क्रमशः
श्रीकृष्ण प्रसाद।अधिवक्ता।
मोबाइल और वाट्सएप्प नं0-9470400813
नीचे जिनकी तस्वीर हैः-
।1। कांड के सूचक श्रीकृष्ण प्रसाद ।अधिवक्ता।
।2। प्रथम नामजद अभियुक्त व दैनिक जागरण के संपादकीय निदेशक महेन्द्र मोहन गुप्ता,।3। द्वितीय नामजद अभियुक्त व दैनिक जागरण के प्रधान संपादक संजय गुप्ता, ।4। तृतीय नामजद अभियुक्त व दैनिक जागरण के मुद्रक एवं प्रकाशक।बिहार। आनन्द त्रिपाठी और ।4। चतुर्थ नामजद अभियुक्त व दैनिक जागरण। बिहार एवं बंगाल। के संपादक प्रशांत मिश्र ।

बिहार के डीजीपी श्री संजीव कुमार सिंघल ने जागरण फर्जीवाड़ा में रिपोर्ट मांगी