लोगों ने सादगी से मनाया सिरूवा पर्व ।

लोगों ने सादगी से मनाया सिरूवा पर्व ।
मिडिया मंच कटिहार संवाददाता जग्गनाथ दास की रिपोर्ट I 
बलरामपुर कटिहार :-  सीमावर्ती क्षेत्र में सिरूवा पर्व  बहुत ही महत्वपूर्ण है। यह पर्व  वैशाख के पहले दिन से शुरू होता है और लगातार तीन दिन तक यह पर्व मनाया जाता है ।पहला दिन में मिट्टी का लेप यानी कादो सिरुवा, दूसरा दिन में पानी सिरूवा , तीसरा दिन में रंग सिरूवा खेला जाता है यह मुख्यतः राजवंशी समुदाय के साथ साथ अन्य समुदाय के लोग भी मनाते हैं बलरामपुर सीमावर्ती क्षेत्र से सटे करनदिधी मे    इस इलाके में सबसे बड़े सिरूवा मेला के नाम से विख्यात हैं ।जो अभी 15 दिन तक रहता है पहले एक  महीना तक यह मेला रहता था इस मेले में हमारे पड़ोसी देश नेपाल ,बांग्लादेश ,असम ,बिहार, बंगाल के लोग मेले करने आते हैं इस बार लॉकडाउन के चलते मेला नहीं लगा ।राजवंशी कल्याण परिषद के  मीडिया प्रभारी जगन्नाथ दास  ने बताया इस बार लॉकडाउन के चलते सामूहिक पूजा पाठ ना करें प्रत्येक घर परिवार में सुखी यापन के लिए अपने अपने कुल देवता की पूजा पाठ किया गया ।इस बार लाॅकडाउन के चलते कदो ,पानी ,रंग सिरूवा नहीं खेला गया ।आम जनता से अपील भी किया गया कि कोरोना संक्रामक महामारी में लोग अपने घर में ही रहें सुरक्षित रहें इसी में हम सब की भलाई है।